आरएस बाली ने अंदरौली में एडवेंचर स्पोर्टस मेले का किया शुभारंभ

मुख्यमंत्री प्रदेश को देश की पर्यटन राजधानी बनाने का कर रहे प्रयास – आरएस बाली

पर्यटन की दृष्टि से अंदरौली को विकसित करने के लिए खर्च किए जाएंगे 10 करोड़ रूपये

ऊना, 7 जनवरी – देवभूमि के नाम से प्रसिद्ध हिमाचल प्रदेश पर्यटन के लिए बेहद खुबसूरत स्थल है। राज्य की बेहद खुबसूत जगहों में कुटलैहड़ विधानसभा क्षेत्र के तहत पड़ता स्थल अंदरौली भी है जहां पर्यटन की अपार संभावनाएं है। यह बात अध्यक्ष हिमाचल पर्यटन निगम कैबिनेट रैंक आरएस बाली ने अंदरौली में एडवेंचर स्पोर्टस मेला के शुभारंभ अवसर पर उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खु हिमाचल प्रदेश को पूरे देश की पर्यटन राजधानी बनाने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिला ऊना के कुटलैहड़ विधानसभा के अंदरौली को भी पर्यटन की दृष्टि से बडे़ स्तर पर विकसित किया जाएगा।
रघुवीर सिंह बाली ने कहा कि कुशल नेतृत्व व दूरदर्शी सोच रखने वाले हिमाचल प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविन्दर सिंह सुक्खु की ओर से एडीबी प्रोजैक्ट के तहत 10 करोड़ रूपये की लागत से अंदरौली को एडवेंचर स्पोर्टस टूरिज्म की दृष्टि से विकसित करने के लिए स्वीकृति किए। उन्होंने कहा कि इस टूरिज्म स्थल पर आने वाले पर्यटकों के लिए अलग-अलग वाटर उपकरण जैसे शिकारा जिसमें कैफे व रूमस की सुविधा, हाउस वोट, स्कूटर व फ्लोटिंग रेटॉरेंट व जैटी उपलब्ध होंगे। उन्होंने कहा कि अंदरौली क्षेत्र टूरिज्म की दृष्टि से प्रदेश का बेहद खूबसुरत पर्यटन स्थल विकसित होकर उभरेगा। दुनिया के कोने-कोने सेे लोग इसकी खुबसूरती का लुत्फ उठाने यहां पहुंचेंगे और जिससे स्थानीय लोगों को आय के साधन भी उपलब्ध होंगे।
उन्होंने कहा कि अंदरौली क्षेत्र को टूरिज्म की दृष्टि से विकसित किया जा रहा है ताकि आने वाले समय में कुटलैहड़ विस क्षेत्र के साथ हिमाचल प्रदेश के टूरिज्म को भी देश के मानचित्र पर उभारा जा सके। उन्होंने कहा कि अंदरौली में वाटर स्पोर्टस जैसी गतिविधियां आयोजित की जाती है जिससे देश के कोने-कोने से आए पर्यटनों के साथ प्रतिभागियों को भी हिमाचल प्रदेश के पर्यटन स्थलों को देखने का मौका मिलता है और इससे टूरिज्म को बढ़ावा मिलता है। उन्होंने अंदरौली को टूरिज्म की दृष्टि से विकसित करने का पूर्ण प्लान पर्यटन विभाग के निदेशक को प्राथमिकता के तौर भेजने को कहा ताकि जिला को ऊना को शीघ्र एक बेहतर विकसित पर्यटन स्थल मिल सके।
उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश को देवभूमि के साथ-साथ सुरक्षा व शांति के लिए भी जाना जाता है। उन्होंने कहा कि देश व विदेश से पर्यटक हिमाचल में घूमना पसंद करते हैं क्योंकि हिमालच टूरिस्ट स्थल के साथ-साथ शांति व सुरक्षा के लिए जाना जाता है। उन्होंने कहा कि चारों तरफ से पहाड़ है और पहाड़ों के आंचल में नीले पानी की झील अंदरौली की शोभा को चार चांद लगाती है तथा यहीं खूबसूरती यहां घूमने आए पर्यटकों का मनमोह लेती है।
कुटलैहड़ विधानसभा क्षेत्र के विधायक देवेंद्र सिंह भुटटो ने कहा कि देश के पर्यटन मानचित्र पर अंदरौली को पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने के लिए एक नया अध्याय जुड़ रहा है। उन्होंने कहा कि विधानसभा क्षेत्र को आगे ले जाने के लिए निरंतर प्रयास कर रहे हैं।

इस मौके पर अतिरिक्त उपायुक्त महेंद्र पाल गुर्जर ने मुख्यातिथियों व अन्य अतिथियों का स्वागत किया तथा एडवेंचर स्पोर्टस मेले की जानकारी दी।
एडवेंचर स्पोर्टस मेले में यह होगी साहसिक गतिविधियां
लगभग एक माह तक चलने वाले एडवेंचर स्पोर्टस मेले में पैरा मोटरिंग, पैरा सेलिंग, हॉट एयर वैलून, एटीवी राइड, जीप लाइन, कमांडो नेट, जारविंग, मिकी माउस, गन शूटिंग व मोटर वोट जैसी खेले यहां आने वाले पर्यटकों के लिए उपलब्ध होंगी जिसमें साहसिक खेलों में रूचि रखने वाले पर्यटक इस मेला का लुत्फ उठा सकेंगे।


अधिसूचित स्थल का किया निरीक्षण
इस अवसर पर आरएस बाली ने कुटलैहड़ विधायक देवेंद्र सिंह भुटटो, एडीसी महेंद्र पाल गुर्जर, एसडीएम बंगाणा मनोज कुमार, तहसीलदार बंगाणा रोहित कुमार व पर्यटन अधिकारी रवि धीमान के साथ अंदरौली में एडवेंचर स्पोर्टस गतिविधियों के लिए अधिसूचित स्थल का निरीक्षण भी किया।
इस दौरान स्कूली बच्चों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए गए तथा मुख्यातिथि ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भाग लेने वाले बच्चों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया।
इस मौके पर एडीसी महेंद्र पाल गुर्जर, एसडीएम विवेक महाजन, एसडीएम मनोज कुमार, तहसीलदार रोहित कंवर, रेड क्रॉस से सुरेंद्र ठाकुर, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष रामासरा, बीडीसी सदस्य अच्छरो बीबी सहित अन्य गणमान्य उपस्थित रहे।