जाग सुखुया जगाने वाले आ गए

आज सांकेतिक कर्मिक धरने के तीसरे दिन सकोली व पटोला की महिलाओं ने सोई हुई सुक्खू सरकार को जगाने का प्रयास किया तथा सरकार से आग्रह किया की हिमाचल प्रदेश केंद्रीय विश्वविद्यालय परिसर के निर्माण हेतु अविलंब 30 करोड जमा करके उनके बच्चो के भविष्य को उज्जवल बनाने में अपना सहयोग करें। अतुल भारद्वाज ने बताया की अब सांकेतिक धरना,कर्मिक धरने में परिवर्तित हो चुका है। आज पहाड़ी गीत जाग सुखया जगाने वाले आ गए गाकर सरकार की कुंभकर्णी नींद को तोड़ने का प्रयास किया।अतुल भारद्वाज ने बताया की कल धरने पर पेंशनर व वार्ड नम्बर 3 बल्ला की महिलाए धरने पर बैठेगी। आज धरने पर पवना रूकवाल,रेखा देवी, निशा देवी, दर्शना, सरोज, वंदना,लता, रीना, नीतू, उर्मिला, रजनी, विशनी, रचना देवी, नीजू, आशु ,सलोचना, दयावंती, कुसुमलता, राजबाला, कुसुमा देवी, सपना, सत्यवती, शुकुंतला, तृप्ता देवी, सावित्री, कल्पना, गायत्री, कमला, मोनू देवी, रजनी, कविता, वीना, रीता, बिंदु, इंदु, सुदर्शना, कुलवंत, सुदर्शन आदि शामिल रहे।