डी०ए०वी० पब्लिक स्कूल जोगिंदर नगर में बच्चों ने बुधवार को कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व बड़े धूमधाम के साथ मनाया गया।

डी०ए०वी० पब्लिक स्कूल जोगिंदर नगर में बच्चों ने बुधवार को कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व बड़े धूमधाम के साथ मनाया गया।

डी०ए०वी० पब्लिक स्कूल जोगिंदर नगर में बच्चों ने बुधवार को कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व बड़े धूमधाम के साथ मनाया गया।जोगिंदर नगर जतिन लटावा विद्यार्थियों ने इस उपलक्ष्य में राधा कृष्ण की मनमोहक प्रस्तुतियां दी। कृष्ण की भक्ति भावना से सराबोर गीत गाए। नन्हे कृष्ण एवं राधा के सामूहिक नृत्य प्रस्तुति को सभी ने सराहा। इसके अतिरिक्त प्रभु की माखन चोरी, बाल लीलाएं इसके साथ ही कृष्ण सुदामा की मित्रता की बहुत सुंदर झांकियां इस दौरान आकर्षण का केंद्र रही। शिक्षिकाओं ने नन्हें नन्हें बच्चों को दशावतार में कृष्णावतार के बारे में बताया। स्कूल में बच्चों के लिए कई कार्यक्रमों का आयोजन किया गया।

जिसमें बच्चों ने मुरली सजावट, हांडी सजावट, बालकृष्ण , मोरपंख और मुरली का चित्र आदि बनाए । इसके साथ ही दही हांडी का आयोजन भी विद्यालय के परिसर में बड़े शौर्य और उत्साह के साथ मनाया गया। जिससे छात्रों के बीच मिलकर काम करने, एकाग्रता, सहयोग और साहस आदि भावनाओं का विकास होता है।कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए कक्षा नौवीं और दसवीं के छात्रों ने इसमें भाग लिया।हमारे योग्य प्राचार्य महोदय श्री. संजय ठाकुर ने भगवान का आशीर्वाद लेने के लिए दही से भरी हांडी की पूजा की। हांडी पूजन के बाद श्रीमान ने शिक्षकों के सहयोग से श्री. प्रकाश और श्री बलदेव ने हांडी को यथास्थान लटका दिया।विद्यार्थी गोल घेरे में नाचते-गाते हुए आए और मानव पिरामिड बनाया। कक्षा नौवीं के सुजल राणा ने कान्हा बनकर हांडी फोड़ी। सभी ने तालियाँ बजाईं और कार्यक्रम का आनंद उठाया।माननीय श्री संजय ठाकुर ने सभी को बधाई दी। उन्होंने सभी को आशीर्वाद दिया और उनके जीवन को सफल बनाने के लिए ईश्वर से प्रार्थना की।उन्होंने बच्चों को जन्माष्टमी त्योहार का महत्व बताया । उन्होंने कहा भारत देश में समय-समय पर अनेक तीज त्योहार मनाए जाते हैं। यह हमारी संस्कृति की पहचान हैं।उन्होंने कहा कि कृष्ण के जीवन से सदा कुछ सीखते रहना चाहिये। हमें प्रण लेना चाहिए कि बिना किसी फल की चिन्ता किये ईमानदारी के साथ अपना कार्य करना चाहिये। तभी हम जीवन में सफल रहेंगें।