तकनीकी प्रशिक्षण से युवा संवार रहे हैं तकदीर– नवीन कुमारी

जोगिंदर नगर जतिन लटावा

देश की आर्थिक एवं सामाजिक स्थिति को बेहतर बनाने के लिए युवा वर्ग हुनरमंद बन रहे है। वे तकनीकी प्रशिक्षण प्राप्त कर रोजगार के नए अवसर तलाश सकते हैं। इससे आर्थिक एवं सामाजिक वृद्धि होगी।गांव के बेरोजगार तकनीकी प्रशिक्षण प्राप्त कर पैरों खड़े हों। आईटीआई जोगेंद्रनगर की प्राचार्य इंजीनियर नवीन कुमारी
ने कहा कि संस्थान युवाओं को स्वावलंबी बनाने के लिए हर संभव जतन कर रहा है। इससे प्रभावित होकर हर रोज विद्यार्थी तकनीकी शिक्षा की बारिकियां सीखने के लिए पहुंच रहे हैं। कुल 9 टेªडों के 14 युनिटों के लिए आरक्षित 412 सीटों में तकनीकी शिक्षा विभाग के द्वारा स्वीकृत कोर्सों में शामिल मोटर मैकेनिक, इलैक्ट्रिशियन, फीटर और कोपा के टेªडों में महारत हासिल करने के लिए युवाओं ने अधिक दिलचस्पी दिखाई है। वहीं युवतियों की रूचि स्वींग टैक्नोलॉजी, ब्यूटिशियन, एंबरोयडरी, डैªस मेकिंग में बढ़ी है। आईटीआई जोगेंद्रनगर की प्राचार्य इंजीनियर नवीन कुमारी ने खुद इस आशय की जानकारी देते हुए बताया

कि प्रशिक्षण के अलावा खेलकूद गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए खेल मैदान की व्यवस्था भी तकनीकी शिक्षा विभाग के द्वारा की गई है। प्रशिक्षण के साथ अन्य प्रतियोगी परीक्षा के लिए पुस्तकालय और उसमें मौजूद बहुमुल्य किताबों का लाभ भी प्रशिक्षुओं को दिलाया जा रहा है। बताया कि तकनीकी शिक्षा के लिए हर प्रकार की कार्यशाला आईटीआई परिसर में मौजूद है और करीब 28 कर्मचारी और प्रशिक्षक तकनीकी शिक्षा को लेकर अपनी सेवाएं दे रहे हैं। मंगलवार को आईटीआई जोगेंद्रनगर में तकनीकी शिक्षा का प्रशिक्षण हासिल करने के लिए फिर पहुंचे अभ्यार्थियों से रूबरू होने के बाद आईटीआई की प्राचार्य नवीन कुमारी ने बताया कि मंडी जिला के अलावा साथ लगते जिलों के करीब पांच सौ से अधिक अभ्यार्थी एक सप्ताह में आईटीआई में पहुंचे हैं जिन्हें तकनीकी शिक्षा से मिलने वाले लाभ की जानकारी दी गई। बताया कि बीते दस सालों में ही दस हजार से अधिक युवा युवतियों को रोजगार मिला। लघु अवधि कोर्स के लिए भी 177 अभ्यार्थियों का चयन इसी आईटीआई में हुआ।