दरंग-2 के 110 स्वयंसेवी शिक्षकों ने सीखे शिक्षण के गुर

पधर में आयोजित दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम संपन्न, जिला नोडल अधिकारी आशा राणा ने प्रमाण पत्र देकर स्वयंसेवी शिक्षकों को किया सम्मानित

मंडी। भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय द्वारा नव भारत साक्षरता कार्यक्रम शुरू किया है, जिसके तहत शिक्षा खंड दरंग-2 में दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम शनिवार को संपन्न हो गया। कार्यक्रम में खंड के करीब 110 स्वयंसेवी शिक्षकों ने हिस्सा लिया और शिक्षण के गुर सीखे। अब ये स्वयंसेवी शिक्षक असाक्षर लोगों में शिक्षा की अलख जगाएंगे।
समापन अवसर पर कार्यक्रम की जिला नोडल अधिकारी आशा राणा ने विशेष रूप से शिरकत की। इस मौके पर उन्होंने
कहा कि नव भारत साक्षरता कार्यक्रम के तहत 15 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के असाक्षर लोगों को आधारभूत भाषा एवं संख्या का ज्ञान देने के साथ-साथ वित्तीय साक्षरता सहित निर्धारित 5 माडयुल का ज्ञान प्रदान करना है। उन्होंने कहा कि आज देश में अभी भी करीब 17 करोड़ लोग शिक्षा से वंचित रह गए हैं। उन्होंने स्वयंसेवी शिक्षकों से आग्रह किया कि वे अपने-अपने क्षेत्र के

असाक्षर लोगों को साक्षर बनाने में अपना सक्रिय योगदान दें। इस दौरान उन्होंने स्वयंसेवी शिक्षकों को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया। दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में मास्टर ट्रेनर भाल चंद व प्यार चंद सकलानी ने स्वयंसेवी शिक्षकों को प्रशिक्षण प्रदान किया।
फोटो कैप्शन
नव भारत साक्षरता कार्यक्रम के तहत पधर में आयोजित दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन पर जिला नोडल अधिकारी आशा राणा स्वयंसेवी शिक्षकों को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित करती हुई।

  1. नव भारत साक्षरता कार्यक्रम के तहत पधर में आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन पर स्वयंसेवी शिक्षक जिला नोडल अधिकारी आशा राणा व मास्टर ट्रेनर के साथ सामूहिक चित्र में।