देवभूमि व हिमाचल की बेटी पर अभद्र टिप्पणी पर जताया आक्रोश

देवभूमि व हिमाचल की बेटी पर अभद्र टिप्पणी पर जताया आक्रोश

राकेश कुमार
धर्मशाला
देवभूमि व हिमाचल की बेटी पर अभद्र टिप्पणी पर जताया आक्रोश

विश्व चक्षु बोले अपनी ओच्छी हरकतों पर उतरी कांग्रेस

जल्द ब्यान वापिस ले, सार्वजनिक माफी भी काफी नहीं, कड़ी कार्रवाई की मांग

पहले भी देवभूमि व कंगना पर दिए ब्यान पर उर्मिला मातोंडकर को देना पड़ा था स्पष्टीकरण

कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत के देवभूमि हिमाचल प्रदेश की बेटी व तीन बार राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजी जा चुकी अभिनेत्री कंगना राणावत पर की गई आपत्तिजनक टिप्पणी पर हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री के मीडिया कोर्डिनेटर व हिमाचल प्रदेश भाजपा के प्रदेश मीडिया सह-प्रभारी एडवोकेट विश्व चक्षु ने कड़ा आक्रोश जताया है। उन्होंने टिप्पणी को बेहद दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि इसके लिए सिर्फ माफी ही काफी नहीं है, हिमाचल प्रदेश की जनता कांग्रेस को इसका जवाब देगी। विश्व चक्षु ने कहा कि बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण और भद्दी टिप्पणी सुप्रिया श्रीनेत ने की है इसकी हम कड़ी शब्दों में निंदा करते हैं, और उनको ये मालूम नहीं है कि हिमाचल प्रदेश देवभूमि के रूप में जाना जाता है, और जहां मंडी की बात है, तो उसे छोटी काशी कहा जाता है। हिमाचल की बेटी कंगना राणावत के खिलाफ इस तरह का दुर्भाग्यपूर्ण ब्यान सभी महिलाओं का अपमान है, कांग्रेस के नेता एक बार फिर से अपनी दुर्दशा को देखते हुए ओच्छे ब्यानों की राजनीति पर उतर आई है।

उनके पास केंद्र की मोदी सरकार के विकास कार्यों के जबाब में कुछ कहने को नहीं है, तो अब अनाप-शनाप ब्यानबाजी करके जनता को अपनी ओर खींचना चाह रहे हैं, जिसका अब उन्हें परिणाम भी जल्द ही देखने को मिलेगा। उन्होंने कहा कि इससे पहले भी अभिनेत्री व नेत्री उर्मिला मातोड़कर ने भी देवभूमि हिमाचल व यंहा की बेटी कंगना राणावत को लेकर ब्यान दिया था, जिसपर उन्होंने लीगल नोटिस भेजते हुए जबाव मांगा था, जिस पर उर्मिला ने हिमाचल को स्पष्टीकरण लिखकर भेजा था। अब सुप्रिया को सार्वजनिक रूप से कंगना सहित महिलाओं व देवभूमि हिमाचल से माफी मांगना ही काफी नहीं, उनके खिलाफ उचित कार्रवाई होनी चाहिए।


एडवोकेट विश्व चक्षु ने कहा कि सुप्रिया श्रीनेत इस समय कांग्रेस पार्टी के सोशल मीडिया और डिजिटल प्लेटफॉर्म संभालने वाले विभाग की चेयरपर्सन हैं, और उनके अंकाउट से इस तरह का ब्यान कांग्रेस की घटिया मानसिकता का प्रमाण देत रहा है। अधिवक्ता विश्व चक्षु ने कहा कि दुख तो इस बात का है कि स्वयं महिला ने एक दूसरी महिला के खिलाफ इस तरह की टिप्पणी की है, जो भी किया है, ये दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक तौर पर माफी मांगी है, लेकिन ये पर्याप्त नहीं है। ये कांग्रेस की आदत बन गई है, उनकी इस आदत को ठीक करने की आवश्यकता है। इसका खामियाजा कांग्रेस व उनके घटिया मानसिकता वाले नेताओं को भुगतना पड़ेगा।