निर्वाचन प्रक्रिया के सुचारू निर्वहन में नोडल अधिकारियों की अहम भूमिका: डीसी       निर्वाचन विभाग की तीन दिवसीय कार्यशाला का किया शुभारंभ

  धर्मशाला, 27 फरवरी। उपायुक्त हेमराज बैरवा ने कहा कि चुनाव प्रक्रिया के सही निष्पादन में नोडल अधिकारियों की महत्वपूर्ण भूमिका रहती है। ऐसे में उन्हें चुनावी नियमों-प्रक्रियाओं की सही जानकारी होना आवश्यक है ताकि दायित्वों के निष्पादन में किसी तरह की अव्यवस्था अथवा त्रुटि नहीं हो। उन्होंने सभी अधिकारियों से चुनाव प्रक्रिया से जुड़े अपने दायित्वों का ईमानदारी के साथ निर्वहन सुनिश्चित करने का आग्रह किया।
    मंगलवार को निर्वाचन विभाग द्वारा धर्मशाला के बीडीओ कार्यालय के सभागार में लोकसभा चुनाव-2024 की तैयारियों के क्रम में चुनावों को लेकर गठित समितियों के नोडल अधिकारियों के लिए आयोजित तीन दिवसीय कार्यशाला के शुभारंभ अवसर पर उपायुक्त हेमराज बैरवा ने आग्रह किया कि सभी नोडल अधिकारी चुनाव प्रक्रिया से जुड़ी किसी भी प्रकार की शंका का कार्यशाला में निवारण कर लें, जिससे उन्हें निर्वाचन से जुड़े कार्य में किसी प्रकार की कठिनाई न आए। निर्वाचन विभाग हर तरह से उनकी मदद के लिए तत्पर है।


उन्होंने कहा कि प्रत्येक बार चुनावों में कुछ नए नियम व दिशा निर्देश लागू होते हैं इसलिए ऐसे अधिकारी व कर्मचारी जिन्होंने पूर्व में अनेकों बार चुनाव संबंधी ड्यूटी में हिस्सा लिया है उन्हें भी इस चुनाव प्रशिक्षण कार्यशाला में दी जा रही प्रत्येक जानकारी को ध्यानपूर्वक सुनने व समझने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि भारत दुनिया का एक सशक्त लोकतांत्रिक देश है तथा स्वतंत्र व निष्पक्ष चुनाव इसकी उन्नति का मूल आधार है। उन्होंने कहा कि चुनाव संबंधी ड्यूटी किसी भी व्यक्ति का देश व लोकतंत्र प्रति सर्वोच्च एवं महत्वपूर्ण कर्तव्य है इसलिए प्रत्येक व्यक्ति चुनावी ड्यूटी को संपूर्ण निष्ठा व ईमानदारी के साथ करे।


कार्यशाला में निर्वाचन विभाग के एसडीएम शिल्पी बेक्टा ने ईवीएम वीवीपैट, सचिव एजुकेशन बोर्ड मेजर विशाल शर्मा ने नामांकन प्रक्रिया,  एडीएम हरीश गज्जू ने मोडल कोड आॅफ कंडक्ट, एसडीएम धर्मशाला ने व्यय निगरानी, डीपीआरओ विनय ने मीडिया माॅनिटरिंग तथा सर्टिफिकेशन, एसडीएम नगरोटा बगबां ने पोलिंग पार्टिस के दायित्वों के बारे में तथा हितेश ने ई-रोल तथा स्वीप एपलीकेशन के बारे में विस्तार से जानकारी दी।
इस अवसर पर विभिन्न उपमंडलों के सहायक निर्वाचन अधिकारी (एसडीएम), नोडल अधिकारी, सहायक व्यय पर्यवेक्षक, फ्लाइंग सर्विलांस टीम, स्टेटिक सर्विलांस टीम के अलावा राजस्व, निर्वाचन तथा पुलिस विभाग सहित कई अन्य विभागों के अधिकारी व कर्मचारी भी उपस्थित थे।