पर्यटन विकास के लिए एडीबी की मदद से खर्च होंगे 2500 करोड़: बाली        हजारों परिवारों को प्रत्यक्ष एवं परोक्ष रूप से मिलेगा रोजगार

सरकार गांव के द्वार कार्यक्रम में 190 के करीब लोंगों की सुनीं समस्याएं
       बेटी है अनमोल के तहत लाभर्थियों को वितरित किए गए चेक
  धर्मशाला, 09 फरवरी। राज्य सरकार हिमाचल में पर्यटन की अपार संभावनाओं को ध्यान में रखते हुए साहसिक, धार्मिक एवं प्राकृतिक पर्यटन अधोसंरचना को विकसित करने के दृढ़ प्रयास कर रही है और भविष्य में सालाना पांच करोड़ पर्यटकों के स्वागत का महत्त्वाकांक्षी लक्ष्य रखा गया है। इस लक्ष्य की पूर्ति के लिए  राज्य सरकार एशियन विकास बैंक की मदद से हिमाचल में पर्यटन विकास के लिए 2500 करोड़ रूपये खर्च किए जाएंगे, प्रारंभिक तौर पर 1300 करोड़ की राशि स्वीकृत भी हो चुकी है।
   शुक्रवार को नगरोटा बगबां के समलोटी में आयोजित सरकार गांव के द्वार कार्यक्रम में पर्यटन निगम के अध्यक्ष आरए बाली ने कहा कि  राज्य सरकार ने भी पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए चालू वित वर्ष में 400 करोड़ के बजट का प्रावधान किया गया है।


     आरएस बाली ने कहा कि पर्यटन क्षेत्र प्रदेश की आर्थिकी की रीढ़ है और इसके माध्यम से प्रदेश के हजारों परिवारों को प्रत्यक्ष एवं परोक्ष रूप से आजीविका प्राप्त होती है। उन्होंने कहा कि बुनियादी ढांचे के विकास और अपनी प्राकृतिक सुंदरता को और बेहतर ढ़ंग से प्रदर्शित करने पर ध्यान केंद्रित करने के लिए नई प्रतिबद्धता के साथ, हिमाचल प्रदेश एक उत्कृष्ट वैश्विक पर्यटन स्थल बनने की राह पर अग्रसर है। दूर-दूर से यात्री यहां के मनमोहक नजारों का आनन्द लेने आते हैं, जिससे प्रदेश के पर्यटन उद्योग का भविष्य पहले से कहीं अधिक उज्ज्वल नजर आता है। उन्होंने कहा कि हिमाचल देश ही नहीं अपितु पूरे विश्व में पर्यटकों के लिए सबसे सुरक्षित पर्यटन गंतव्य के रूप में उभर कर सामने आया है। पर्यटन निगम के अध्यक्ष कैबिनेट रैंक आरएस बाली ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में स्वरोजगार के नए अवसर प्रदान किए जाएंगे ताकि ग्रामीण क्षेत्रों से युवाओं का पलायन नहीं हो सके और घर द्वार पर ही रोजगार प्राप्त हो सके। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के युवाओं की विशेष तौर पर कैरियर कांउसलिंग भी की जाएगी ताकि ज्यादा से ज्यादा युवा स्टार्ट अप के साथ जुड़कर स्वाबलंबी बन सकें। उन्होंने कहा कि नगरोटा बगबां में वर्ष में दो बार रोजगार मेले आयोजित किए जा रहे हैं।

नगरोटा बगबां को मिलेगी बड़ी सौगात:
   आरएस बाली ने कहा कि जिला कांगड़ा को पर्यटन राजधानी बनाने के मुख्यमंत्री के संकल्प को पूरा करने के लिए कईं महत्वपूर्ण योजनाओं पर कार्य किया जा रहा है। उन्हांेने कहा कि नगरोटा बगबां विधानसभा क्षेत्र में पर्यटन विकास पर 300 करोड़ खर्च किए जाएंगे।अ   नगरोटा बगवां में अंतर्राष्ट्रीय स्तर का म्यूजिक फाउंटेन भी स्थापित किया जाएगा तथा आधुनिक सुविधाओं से लैस टूरिज्म का होटल भी निर्मित किया जाएगा इसके साथ ही नगरोटा बगबां क्षेत्र में राज्य का सबसे बड़ा माॅडल स्कूल, दो स्पोट्र्स परिसर भी निर्मित किए जाएंगे ताकि युवाओं को खेलों की बेहतर सुविधा मिल सके।
523 महिला मंडलों को मिलेंगे 11-11 हजार की अनुदान राशि
पर्यटन निगम के अध्यक्ष आरएस बाली ने कहा कि नगरोटा बगबां के महिला मंडलों के सुदृढ़ीकरण के लिए विशेष कदम उठाए जाएंगे इस के लिए नगरोटा बगबां में 523 के करीब महिला मंडल पंजीकृत हैं तथा प्रारंभिक चरण में प्रत्येक महिला मंडल को 11-11 हजार की राशि उनकी जरूरतों के अनुसार प्रदान की जाएगी इसके साथ ही महिला मंडलों के भवनों के निर्माण के लिए भी चरणबद्व तरीके से कदम उठाए जाएंगे। इस अवसर पर पर्यटन निगम के अध्यक्ष आरएस बाली ने बेटी है अनमोल योजना के तहत 11 लाभार्थियों को 21-21 हजार के चेक भी वितरित किए।
इस अवसर पर मुख्य संसदीय सचिव किशोरी लाल ने कहा कि मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू की सोच है कि प्रदेश का हर व्यक्ति विकास में भागीदार हो। इसी सोच के साथ प्रदेश सरकार आखिरी पंक्ति में बैठे आखिरी व्यक्ति के कल्याण के लिए काम कर रही है। हमारे लिए प्रदेश के लोगों की आशाओं को पूरा करना एक मिशन है और इसके लिए सरकार ने एक वर्ष में कई ऐतिहासिक निर्णय लिए हैं।


उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी की सोच, नीयत और नीति एकदम स्पष्ट है। हम जो कहते हैं वह करते हैं। पार्टी ने सत्ता में आते ही लोगों को दी गारंटियों को पूरा करना शुरू कर दिया है। एक साल के अन्दर ही तीन गारंटियों  को पूरा कर दिया गया है और आने वाले चार वर्षों से पहले सारी गारंटियों को पूरा कर दिया जाएगा।
’विभागों के स्टॉलों का अवलोकन’
आरएस बाली ने लोक निर्माण, जल शक्ति, स्वास्थ्य, शिक्षा, कृषि, उद्योग सहित  विभिन्न विभागों द्वारा प्रदेश सरकार की एक वर्ष की उपलब्धियों और योजनाओं की जानकारी देने के लिए लगाए गए स्टॉलों का अवलोकन किया। आयुष और स्वास्थ्य विभाग द्वारा इस अवसर पर निशुल्क हेल्थ कैंप का आयोजन किया गया। जहां लगभग 400 से अधिक लोगों की जांच की गई और उन्हें  उन्हें मुफ्त दवाईयां वितरित की गई। इस अवसर पर 190 के करीब शिकायतें सुनीं गईं तथा अधिकांश पर मौके पर निपटारा हुआ जबकि अन्य समस्याओं के निदान के लिए विभागीय अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए गए।
ये रहे उपस्थित’
इस अवसर पर उपायुक्त हेमराज बैरबा, एसडीएम मुनीष शर्मा तथा एचएएस प्रोबेशनर पूजा, ब्लाक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मान सिंह, शहरी कमेटी के उपाध्यक्ष नीरज सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी तथा कर्मचारी उपस्थित थे।