बड़ादेव के शुभ आगमन के साथ मंडी में आरंभ हुए शिवरात्रि मेले के अनुष्ठान

बड़ादेव के शुभ आगमन के साथ मंडी में आरंभ हुए शिवरात्रि मेले के अनुष्ठान

छोटी काशी में देव आस्था का महा समागम


बड़ादेव के शुभ आगमन के साथ मंडी में आरंभ हुए शिवरात्रि मेले के अनुष्ठान

मंडी, 7 मार्च। मंगलमयी देव ध्वनियों की अनुगूंज के मध्य बड़ादेव कमरूनाग के शुभ आगमन के साथ मंडी नगर में देव आस्था के महासमागम शिवरात्रि मेला-2024 के अनुष्ठान आरंभ हो गए। मेले में सम्मिलित होने के लिए बड़ादेव कमरूनाग गुरुवार को मंडी पधारे। देव आस्था और आनंद की रिमझिम बौझार में भावविभोर मंडीवासी बड़ादेव की अगवानी में आनंद में भीगते दिखे। बड़ादेव के अलावा छह और देवी-देवता भी गुरुवार को छोटी काशी पहुंचे।


दिव्य स्वर लहरियों के मध्य देवी-देवताओं के आगमन से मंडी नगर में पूरा वातावरण भक्तिमय हो उठा। अपने ईष्ट देव-देवियों के दर्शन और उनका आशीर्वाद लेने के लिए नगर में जन सैलाब सा उमड़ रहा था।
सबसे पहले पुलघराट के पास जिला प्रशासन की ओर से जिला राजस्व अधिकारी हरीश शर्मा, तहसीलदार नरेंद्र और सर्व देवता समाज समिति के अध्यक्ष शिवपाल शर्मा सहित मेला स्वागत समिति के सभी सदस्यों ने बड़ादेव कमरूनाग का स्वागत किया।
  वहां से देव कमरूनाग राज माधोराय मंदिर पहुंचे, जहां उपायुक्त मंडी एवं अंतर्राष्ट्रीय शिवरात्रि मेला समिति के अध्यक्ष अपूर्व देवगन ने बड़ादेव का पूरे विधि विधान से स्वागत किया। इस अवसर पर एपीएमसी मंडी के अध्यक्ष संजीव गुलेरिया, नगर निगम मंडी के महापौर विरेंद्र भट्ट तथा पार्षदगण, एडीसी रोहित राठौर, एडीएम डॉ. मदन कुमार, एसडीएम ओम कांत ठाकुर, सर्व देवता समाज समिति के अध्यक्ष शिवपाल शर्मा सहित स्वागत समित के अन्य सदस्य भी उपस्थित रहे।
उसके बाद देव कमरूनाग ने माधोराय मंदिर में माथा टेका। वहां से बड़ादेव देवलुओं संग राजमहल पहुंचे, जहां राजपरिवार के सदस्यों ने पारंपरिक विधि से उनका स्वागत किया।
बड़ादेव के बाद शुकदेव ऋषि शारटी, शुकदेव ऋषि थट्टा, देवी बगलामुखी बाखली व देवी बुढी भैरवा, देव बुढा बिंगल व बजीर झाथी वीर ने राज माधो राव मंदिर में उपस्थिति दर्ज करवाई। वहां से सभी देवता देवलुओं के साथ अपने ठहरने के तय स्थानों को गए।