बुजुर्ग और दिव्यांग मतदाता बखूबी निभा रहे अपनी जिम्मेदारी: हेमराज बैरवा

बुजुर्ग और दिव्यांग मतदाता बखूबी निभा रहे अपनी जिम्मेदारी: हेमराज बैरवा

बुजुर्ग और दिव्यांग मतदाता बखूबी निभा रहे अपनी जिम्मेदारी: हेमराज बैरवा

तीन दिन में आंकड़ा पहुंचा 57 प्रतिशत के पार, साढ़े पांच हजार से अधिक ने डाला घरों से वोट

धर्मशाला, 24 मई। कांगड़ा-चम्बा संसदीय क्षेत्र में 57 प्रतिशत से अधिक पात्र बुजुर्ग और दिव्यांग मतदाताओं ने अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए लोकसभा चुनाव के लिए अपना मतदान कर दिया है। जिला निर्वाचन अधिकारी हेमराज बैरवा ने बताया कि कांगड़ा-चम्बा संसदीय क्षेत्र में तीन दिनों में कुल 5 हजार 768 मतदाताओं ने पोस्टल बैलेट के माध्यम से अपना वोट डाला है। जिनमें 85 वर्ष से अधिक आयु के 4180 बुजुर्ग मतदाता, 1579 दिव्यांग और 9 आवश्यक सेवाओें के कर्मचारी शामिल हैं। उन्होंने बताया कि घर से मतदान का विकल्प चुनने वाले बुजुर्ग और दिव्यांग मतदाताओं ने अपनी जिम्मेदारी को बखूबी निभाते हुए तीन दिन में ही साढ़े पांच हजार से अधिक वोट डाले हैं।

कहां कितना मतदान

हेमराज बैरवा ने बताया कि 85 वर्ष से अधिक आयु वर्ग और दिव्यांग वोटरों के घर से मतदान की मुहिम के तहत अब तक नूरपुर विधानसभा क्षेत्र में 225, इंदौरा में 551, फतेहपुर में 534, जवाली में 471, ज्वालामुखी में 596, जयसिंहपुर में 472, सुलह में 488, नगरोटा में 230, कांगड़ा में 317, शाहपुर में 289, धर्मशाला में 278, पालमपुर में 217, तथा बैजनाथ में 258 मतदाताओं ने अपने मताधिकार को प्रयोग किया है। वहीं चुराह में 211, चम्बा में 206, डलहौजी में 187 और भटियात में 238 लोगों ने अपने घरों से वोट डाले हैं।

29 तक जारी रहेगा अभियान, बढ़ेगी संख्या

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि डाक मतपत्र से वोट डलवाने के चुनाव आयोग के अभियान के पहले तीन दिन में ही मोबाइल पोलिंग टीमों ने 57 प्रतिशत से अधिक 5768 मतदाताओं से मतदान करवाया है। उन्होंने बताया कि पात्र बुजुर्ग और दिव्यांग मतदाताओं के घरों से वोट डलवाने का अभियान 29 मई तक जारी रहेगा। इस मुहिम में चुनाव आयोग द्वारा गठित 151 टीमें घर-घर दस्तक दे रही हैं। जिससे आने वाले दिनों में इस संख्या में इजाफा होगा। उन्होंने उन्होंने बताया कि कांगड़ा-चम्बा संसदीय क्षेत्र में पोस्टल बैलेट से वोट डालने वाले पात्र मतदाताओं की कुल संख्या 10091 है। जिनमें 7102 बुजुर्ग, 2623 दिव्यांग और 366 आवश्यक सेवाओं के कर्मचारी हैं।

उपायुक्त स्वयं कर रहे निरीक्षण, कहा…घर से मतदान को लेकर बरती जा रही पूरी गोपनीयता

बता दें, जिला निर्वाचन अधिकारी हेमराज बैरवा स्वयं इस पूरी प्रक्रिया की मॉनीटरिंग कर रहे हैं। बीते कल उन्होंने कांगड़ा निर्वाचन क्षेत्र में औचक रूप से कुछ बुजुर्ग मतदाताओं के घर जाकर मतदान प्रक्रिया की पूरी व्यवस्था जांची। उन्होंने कहा कि प्रशासन मतदाताओं के लिए आसान वोटिंग सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है। चुनाव आयोग के दिशा-निर्देशानुसार घर से मतदान को लेकर पूरी गोपनीयता बरती जा रहा है। मोबाइल पोलिंग टीमों की मतदान करवाने की पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी कराई जा रही है। उनका कहना है कि वे खुद मतदाताओं के घरों में जाकर प्रक्रिया की जांच कर रहे हैं और व्यवस्थाओं का संज्ञान ले रहे हैं।