मंडी जिले में बागवानी विकास पर खर्च होंगे 34 करोड़

एकीकृत बागवानी विकास मिशन के तहत वर्ष 2024-25 के लिए वार्षिक योजना का अनुमोदन
मंडी, 15 फरवरी। मंडी जिले में एकीकृत बागवानी विकास मिशन के तहत वर्ष 2024-25 के लिए 34 करोड़ रुपये की वार्षिक योजना का अनुमोदन किया गया है। यह धनराशि जिले में बागवानी गतिविधियों को नई गति देने और बागवानों की आर्थिकी मजबूत करने पर व्यय की जाएगी। अतिरिक्त उपायुक्त रोहित राठौर की अध्यक्षता में जिले में इस मिशन के क्रियान्वयन को लेकर गठित जिला निगरानी समिति की गुरुवार को हुई बैठक में वार्षिक विकास योजना का अनुमोदन किया गया।
इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त ने जिले में बागवानी क्षेत्र के समग्र विकास पर बल दिया। उन्होंने उद्यान विभाग के अधिकारियों को बागवानों को बहुफसलीकरण अपनाने तथा प्रौद्योगिकी संचालित बागवानी के लिए प्रोत्साहित करने को कहा। उन्होंने कहा कि अधिकारी बागवानों को बगीचों में पौधों के मध्य की खाली भूमि का अधिकतम उपयोग को लेकर प्रोत्साहित करें। बगीचे में खाली भूमि पर सब्जियां उगाने तथा बहुविध खेती के मॉडल को अपनाकर उनकी आर्थिकी को मजबूती मिलेगी।
रोहित राठौर ने कहा कि अब समय आधुनिक तकनीक तथा वैज्ञानिक विधियों से खेती का है। ऐसे में बागवानों को इसे लेकर जागरूक तथा प्रशिक्षित करना आवश्यक है।


समग्र बागवानी विकास पर बल
एकीकृत बागवानी विकास मिशन के तहत मंडी जिले में वर्ष 2024-25 के लिए अनुमोदित 34 करोड़ रुपये की वार्षिक योजना में बागवानी विकास के लिए समग्रता से काम किया जाएगा। इसमें विभिन्न अमरूद, आम, लीची, अनार, कीवी इत्यादि फलदार पौधों के उच्च घनत्व पौधरोपण के साथ ही मसालों, मशरूम तथा फूलों की खेती को बढ़ावा देने, सामुदायिक जल संसाधन निर्मित करने, बागवानों को आधुनिक मशीनरी, अनुदान तथा प्रशिक्षण देने, फल प्रसंस्करण यूनिट लगाने में सहायता करने तथा लोगों को बागवानी गतिविधियों को लेकर शिक्षित करने समेत बागवानी विकास के विभिन्न कार्य किए जाएंगे।
बैठक में उद्यान विभाग के मंडी जोन के संयुक्त निदेशक विद्या प्रकाश ने अतिरिक्त उपायुक्त समेत समिति के सभी सदस्यों का

स्वागत करते हुए एकीकृत बागवानी विकास मिशन के उद्देश्यों से अवगत कराया। उन्होंने बताया कि इस मिशन में बागवानी विकास के हर पहलू को कवर किया गया है। इसमें उत्पादन से लेकर बाजार तक सहायता का प्रावधान है।
उपनिदेशक डॉ. संजय कुमार गुप्ता ने एकीकृत बागवानी विकास मिशन के तहत वर्ष 2024-25 की जिले की वार्षिक योजना में सम्मिलित घटकों का विस्तृत ब्योरा दिया।
बैठक में उपस्थित बागवानों ने अपने अनुभव साझा किए तथा विभाग से प्राप्त सहायता के लिए आभार जताया। इस दौरान उद्यान विभाग सहित अन्य विभागों के अधिकारी तथा समिति के नामित सदस्य उपस्थित थे।