मतदान केंद्र निरोहली, डूगहली, तरयांबली तथा ममाण में जागरूक किये मतदाता

मतदान केंद्र निरोहली, डूगहली, तरयांबली तथा ममाण में जागरूक किये मतदाता

मतदान केंद्र निरोहली, डूगहली, तरयांबली तथा ममाण में जागरूक किये मतदाता

सहायक निर्वाचन अधिकारी मनीश चौधरी ने लोक सभा चुनाव में बढ़-चढ़कर भाग लेने का किया आह्वान

जोगिन्दर नगर, 09 अप्रैल- सहायक निर्वाचन अधिकारी एवं एसडीएम जोगिन्दर नगर मनीश चौधरी की अध्यक्षता में आज जोगिन्दर नगर विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के अंतर्गत मतदान केंद्र 6 डूगहली, 9 निरोहली, 13 ममाण तथा 14 तरयांबली में मतदान जागरूकता के लिए विशेष जागरूकता शिविरों का आयोजन किया गया। सुव्यवस्थित मतदाता शिक्षा एवं निर्वाचक सहभागिता (स्वीप) कार्यक्रम के तहत आयोजित इन जागरूकता शिविरों में आगामी 1 जून को होने जा रहे आम लोकसभा चुनाव के दौरान मतदाताओं से बढ़-चढक़र भाग लेने का आहवान किया गया। वर्ष 2019 में आयोजित आम लोकसभा चुनाव के दौरान इन मतदान केंद्रों में 60 प्रतिशत से कम मतदान दर्ज हुआ था। जिनमें डूगहली में 59.26 प्रतिशत, निरोहली में 57.53 प्रतिशत, ममाण में 59.58 तथा तरयांबली में 59.68 प्रतिशत शामिल है।


इस दौरान उपस्थित मतदाताओं को संबोधित करते हुए सहायक निर्वाचन अधिकारी एवं एसडीएम जोगिन्दर नगर मनीश चौधरी ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में आम लोकसभा चुनाव-2019 में 60 प्रतिशत से कम मतदान दर्ज करने वाले मतदान केंद्रों के लिए चुनाव आयोग ने मिशन 414 की शुरुआत की है। मिशन 414 के तहत कम मतदान वाले मतदान केंद्रों में मत प्रतिशतता बढ़ाने के लिए विशेष बल दिया जा रहा है। इसी मिशन के तहत 31-जोगिन्दर नगर विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में भी कुल ऐसे 20 मतदान केंद्र चिन्हित किये गए हैं जिनमें गत आम लोकसभा चुनाव के दौरान 60 प्रतिशत से कम मतदान दर्ज हुआ है।
उन्होंने कहा कि लोकतंत्र के महापर्व में देश के नागरिकों को मतदान के माध्यम से अपनी मनपसंद सरकार चुनने का अधिकार दिया गया है। ऐसे में सभी मतदाताओं से बढ़-चढ़ कर मतदान करने की अपील की गई। उन्होंने कहा कि कम मतदान वाले इन मतदान केंद्रों में महिलाओं के मुकाबले पुरुष मतदाताओं का मत प्रतिशत बेहद कम दर्ज हुआ है। जिनमें डूगहली मतदान केंद्र में पुरुषों की भागीदारी 47.53 प्रतिशत, निरोहली में 48.27 प्रतिशत, ममाण में 47.32 प्रतिशत तथा तरयांबली में 43.55 प्रतिशत रही है।
एसडीएम ने कहा कि जैसा उन्हें पता चला है कि इन मतदान केंद्रों से जुड़े बहुत से पुरुष मतदाता रोजगार के लिए प्रदेश के औद्योगिक क्षेत्रों सहित अन्य प्रदेशों में काम करते हैं। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र के महापर्व में मतदान करने के लिए सरकार द्वारा सरकारी व निजी क्षेत्र में कार्यरत कर्मियों को वैतनिक अवकाश की सुविधा प्रदान की जाती है, ऐसे में दूसरे प्रदेशों में रोजगार के लिए गए मतदाताओं से मतदान में अपनी भागीदारी सुनिश्चित बनाने का आह्वान किया है।


मनीश चौधरी ने संबंधित पंचायत प्रतिनिधियों, बूथ लेवल अधिकारियों, पंचायत सचिवों एवं पटवारियों से भी प्रदेश के बाहर कार्यरत ऐसे सभी मतदाताओं की पहचान कर उन्हें मतदान के लिए प्रोत्साहित करने पर भी जोर दिया। साथ ही परिवार के दूसरे सदस्यों से भी उन्हें मतदान करने के लिए प्रेरित करने को भी कहा ताकि लोकतंत्र के इस महापर्व में सबकी भागीदारी सुनिश्चित हो सके।

1 अप्रैल, 2024 को 18 वर्ष आयु पूर्ण करने वाले 4 मई तक बनाएं वोट

एसडीएम ने कहा कि एक अप्रैल, 2024 को 18 वर्ष की आयु पूर्ण करने वाले युवा आगामी 4 मई तक अपना नाम मतदाता सूची में दर्ज करवा सकते हैं। इसके लिए वे चुनाव आयोग के ऑनलाइन पोर्टल या वोटर हेल्पलाइन ऐप को स्मार्टफोन में डाउनलोड कर सकते हैं या फिर अपने बूथ लेवल अधिकारी (बीएलओ) के पास जाकर भी निर्धारित प्रपत्र भरकर नाम मतदाता सूची में दर्ज करवा सकते हैं।
इस अवसर पर तहसीलदार लडभड़ोल उर्मिला सुमन, नोडल अधिकारी स्वीप खजान ठाकुर, चुनाव सहायक मोहन सिंह सहित संबंधित ग्राम पंचायतों के जन प्रतिनिधि भी मौजूद रहे।

10 अप्रैल को खारसा व भटवाड़ा मतदान केंद्र में जागरूक होंगे मतदाता

इसी विशेष मतदाता जागरूकता अभियान के तहत आगामी 10 अप्रैल को ग्राम पंचायत गुम्मा के अंतर्गत मतदान केंद्र 120 खारसा तथा ग्राम पंचायत मटरू के तहत मतदान केंद्र 65 भटवाड़ा में भी मतदाता जागरूकता शिविरों का आयोजन किया जाएगा।