महिलाएं घर के चूल्हा चौका तक सीमित नहीं, देश की बागडोर का भी उठाए हुए हैं जिम्मा: दीपा

जोगिंद्रनगर जतिन लटावा

शिक्षा, सहित्य, स्वास्थ्य व अन्य क्षेत्रों में सराहनीय सेवाएं देने वाली 15 से अधिक महिलाओं को सम्मानित किया गया। महिला सम्मान समारोह के दौरान उपस्थित महिलाओं को संबोधित करते हुए दीपा ने कहा कि देश में पुरूषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर आजकल महिलाएं बड़ी कुशलता से देश की बागडोर भी उठाए हुए हैं। देश के सबसे शीर्ष पद पर महिलाएं सत्तासीन है। उन्‍होंने  कहा कि मौजूदा परिवेश में महिलाएं घर के चूल्हा चोके तक ही सीमित नहीं है। घर का कामकाज के बौझ के साथ वह धरती से आसमान तक अपने हुनर का भी परचम लहरा रही है।

रविवार को चौंतड़ा के पंचायत भवन में आयोजित शान्ति देवी फाऊंडेशन के सौजन्य से रखा गया था,महिलाओं के सम्मान समारोह में लीला और रजनी ने कहा कि बदलते दौर में महिलाएं अपने आप को काफी आगे ले जाने तक हर क्षेत्र में अपना बर्चस्व बनाए हुए हैं। कार्यक्रम में मौजूद बकौल मुख्यातिथी दीपा ने कहा कि देश की आन वान शान को बरकरार रखने के लिए भारतीय सेना में भी महिलाओं का वर्चस्व लगातार बढ़ रहा है। इससे पहले गीतांजलि
ने कहा कि नारी शक्ति ने अब आत्मनिर्भर बनकर अपनी जीवन की पारी खेलना सीख लिया है। वह परिवार के पालन पोषण के अलावा शिक्षा, स्वास्थ्य के अलावा हर क्षेत्र में आगे रह रही है।