राम मंदिर के नाम पर भाजपा कर रही नई नौटंकी

देश और प्रदेश में जब-जब भी चुनाव आते हैं उसे समय भाजपा की नई नौटंकी शुरू हो जाती है भगवान राम जी से ऊपर अपने को मानने वाले भाजपा नेतायों ने भगवान श्री राम जी के मंदिर प्राण प्रतिष्ठा वाले इस धार्मिक कार्यक्रम को राजनीतिक रूप दे दिया है क्या किसी मंदिर में जाने के लिए जो लोग भगवान के प्रति अपनी आस्था निष्ठा रखते हैं उनको किसी विशेष न्योते की जरूरत होती है किसी भी मंदिर मस्जिद और गुरुद्वारे या चर्च में जाने के लिए क्या न्योता देना पड़ता है
भगवान राम जी देश और दुनिया के हर क्षेत्र के लोगों के दिल में राज करते हैं भाजपा नेता वह उनकी पार्टी भगवान राम जी को अपनी जागीर न समझे , यह देश के अंदर एक नई प्रथा भाजपा और उनके नेताओं ने शुरू कर दी है भगवान राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा में जिस तरह से इस धार्मिक कार्यक्रम के ऊपर राजनीतिक कब्जा कर राजनीतिक फायदे के लिए धर्म गुरुयों के अपमान के साथ साथ यह देश की जनता को भ्रमित करने का प्रयास किया जा रहा है आज पूरे देश की लोगों को बांटने का

प्रयास किया जा रहा है इस धार्मिक आयोजन में कौन आएगा कौन नहीं आएगा कया ये भी भाजपा तय करेंगे यह देश और प्रदेश की जनता को सोचने पर मजबूर कर दिया है जिस तरह से भाजपा के नेता हर क्षेत्र में अपना भाजपा का झंडा लेकर गांव गांव में जाकर न्योता दे रहे हैं इससे बिल्कुल स्पष्ट हो रहा है कि लोकसभा चावन को नजदीक आते देख और अपनी राजनीतिक महत्वाकांक्षा के चलते इस तरह भगवान राम जी के नाम का सहारा लेकर इस चुनाव में अपनी पार्टी की नैया पार करने की कोशिश कर रहे हैं इस प्रदेश की जनता अब भाजपा के इन जुमले से भली भांति परिचित हो चुकी है लेकिन इस तरह की कार्यशैली से आज देश में समाज की कई वर्गों को तोड़ने का प्रयास भाजपा और उनके महत्वाकांक्षी नेता रहे हैं क्या आप मंदिर मस्जिद गुरुद्वारे तथा चर्च में कौन जाएगा कौन नहीं जाएगा यह भी भाजपा की सरकार और नेता ही तय करेंगे इस तरह की संकीर्ण सोच प्रदेश और देश के लोगों की आस्था और दिलों को ठेस पहुंचाने वाली है आगामी लोकसभा चुनाव में देश की जनता भाजपा के इन हरकतों का सही से जवाब देगी।

राकेश चौहान सचिव हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी।