राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग ने विभिन्न संस्थाओं का किया अवलोकन

राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग ने विभिन्न संस्थाओं का किया अवलोकन

राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग ने विभिन्न संस्थाओं का किया अवलोकन

धर्मशाला, 16 मार्च। राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग के स्पेशल मॉनिटर बालकृष्ण गोयल ने आज शनिवार को ज़ोनल अस्पताल धर्मशाला का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने अस्पताल के विभिन्न वार्डों, ओपीडी, रजिस्ट्रेशन काउंटर व सुझाव/शिकायत पट्टिका का निरीक्षण किया। 


इस अवसर पर उन्होंने अस्पताल के स्टाफ से मुलाकात की तथा उनकी समस्याओं को जाना। इस दौरान उन्होंने अस्पताल में रखी गई खाद्यन्न सामग्री तथा दवाइयों की गहनता से जांच की तथा आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने निरीक्षण के दौरान ओपीडी, बल्ड बैंक के अतिरिक्त अस्पताल की अन्य कार्य प्रणाली की विस्तृत जानकारी हासिल की। इस दौरान धर्मशाला अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. राजेश गुलेरी ने पीपीटी प्रेजेंटेशन के माध्यम से अस्पताल के संचालन और कार्यप्रणाली से संबंधित जानकारी दी।

श्री गोयल ने मानवाधिकारों के संरक्षण पर बल देते हुए कहा कि किसी भी रूप में मानव अधिकारों का हनन नहीं होना चाहिए। मानव अधिकारों के संरक्षण के लिए आयोग मौजूद है। उन्होंने आम जनमानस का भी आह्वान किया कि यदि कहीं पर किसी भी स्थिति में मानवाधिकारों का हनन होता है तो उसकी सूचना मानवाधिकार को दें।

उन्होंने उल्लेख किया कि मानवाधिकारों के किसी भी प्रकार के उल्लंघन को रोकने के लिए एनएचआरसी द्वारा प्रयास किए जा रहे हैं और इस दिशा में उन्होंने अस्पताल के अधिकारियों को मरीजों और अस्पताल में आने वाले आगंतुकों, विशेष रूप से दिव्यांगजनों और वृद्धों के मामलों में अत्यधिक संवेदनशीलता बरतने का निर्देश दिया है।

बाद में, श्री गोयल ने धर्मशाला के दाड़ी स्थित वृद्ध आश्रम का भी दौरा किया। उन्होंने संस्था के अधिकारियों व कर्मचारियों से वृद्धों की समस्याओं पर चर्चा की। उन्होंने अधिकारियों को वृद्धों के लिए उपलब्ध सेवाओं में सुधार करने और उनको उचित स्वास्थ्य सेवाएँ देने के निर्देश दिये। उन्होंने इस दौरान वहाँ रह रहे बुजुर्गों से बातचीत कर उनको आ रही समस्याओं को गंभीरता से सुना तथा उनके त्वरित निवारण के निर्देश अधिकारियों को दिए।

इस दौरान मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुशील शर्मा, ज़िला कार्यक्रम अधिकारी अशोक शर्मा, ज़िला बाल संरक्षण अधिकारी राजेश शर्मा, सीडीपीओ रमेश जागवान सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित रहे।