शिक्षा हब के रूप में विकसित होगा नगरोटा बगबां विस क्षेत्र: बालीबोले, नगरोटा में राज्य का सबसे बड़ा माॅडल स्कूल होगा निर्मित

सरोत्री, सुन्नी तथा टैगोर पब्लिक स्कूल के मेधावी छात्र नवाजे
नगरोटा, 12 फरवरी। पर्यटन निगम के अध्यक्ष कैबिनेट रैंक आरएस बाली ने कहा कि नगरोटा विधानसभा क्षेत्र को शिक्षा हब के रूप में विकसित किया जा रहा है। नगरोटा में राज्य का सबसे बड़ा माॅडल स्कूल शीघ्र खोला जाएगा ताकि इस विधानसभा क्षेत्र के बच्चों को शिक्षा की बेहतर सुविधाएं मिल सकें। सोमवार को पर्यटन निगम के अध्यक्ष आरएस बाली ने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला सरोत्री, सुन्नी तथा टैगोर पब्लिक स्कूल के वार्षिक उत्सव में बतौर मेधावियों को सम्मानित किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि नगरोटा विधानसभा क्षेत्र में विकास पुरूष स्व जीएस बाली के अथक प्रयासों से मेडिकल कालेज, इंजीनियरिंग कालेज, फार्मेसी कालेज तथा दो महाविद्यालय इसके साथ ही बहुतकनीकी संस्थान स्थापित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि अब ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा के ढांचे को सुदृढ़ करने की दिशा में कदम उठाए जा रहे हैं तथा इसी कड़ी में बलधर में अत्याधुनिक सुविधाओं से परिपूर्ण आईटीआई स्थापित की जा रही है ताकि ग्रामीण युवाओं को तकनीकी शिक्षा मिल सके।

अपने संबोधन दौरान उन्होंने सभी बच्चों के उज्जवल भविष्य की कामना की। उन्होंने कहा एक अच्छा शिक्षक बच्चों का सही मार्गदर्शन करके उनका भविष्य उज्जवल कर सकता है और बच्चों को भी शिक्षकों और माता-पिता का आदर करना चाहिए और निरंतर कुछ नया सीखने की इच्छा अपने अंदर बनाए रखनी चाहिए। आरएस बाली ने 15 लाख सरोत्री पाठशाला के अतिरिक्त भवन निर्माण के लिए दिए तथा 5 लाख शौचालय निर्माण के लिए तथा 2 स्मार्ट क्लासरूम व 10 हजार संस्कृतिक कार्यक्रम के लिए और 1 वाटर कूलर दिया।
10 लाख सुन्नी पाठशाला को भवन और अन्य कार्यो के लिए दिया। 30 हजार साँस्कृतिक कार्यक्रम के लिए दिया और 2 सोलर लाइट दी और वाटर कूलर दिया। टैगोर पब्लिक पाठशाला सुन्नी में 1 लाख रुपये, हेडपम्प,स्ट्रीट लाइट पाठशाला के लिए दी।
कार्यक्रमों में एसडीएम मुनीश शर्मा, प्रधानाचार्य नीलम डडवाल , उप प्रधानाचार्य अनूप कुमार, प्रधानाचार्य संजय कुमार, प्रधान प्रवीन कुमारी, राजिंदर प्रसाद एसएमसी प्रधान, सालिगराम हीर , शशि बाला, हरिराम हीर, मदन, एसएमसी प्रधान संजू बाला, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष मानसिंह, महासचिव, अरुण कटोच, विभिन्न विभागों के अधिकारी, विभिन्न स्कूलों के प्रधानाचार्य, अध्यापक, परिजन और बच्चे मौजूद रहे।