सभी विद्यालयों को स्कूल आॅफ एक्सीलेंस के रूप में करेंगे विकसित: पठानियाचड़ी स्कूल के वार्षिक उत्सव में मेधावी बच्चों को नवाजा

शाहपुर 19 जनवरी। विधायक केवल सिंह पठानिया ने कहा कि राज्य में 500 प्राथमिक पाठशालाओं , 100 उच्च पाठशालाओं तथा 200 राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों को स्कूल आॅफ एक्सीलेंस के रूप में विकसित किया जाएगा ताकि विद्यार्थियों को पठन और पाठन की बेहतर सुविधा मिल सके। शुक्रवार को विधायक केवल सिंह पठानिया ने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय चड़ी के वार्षिक उत्सव में बतौर मुख्यातिथि अपने संबोधन में कहा कि कि प्रत्येक सीनियर सेकेंडरी स्कूल में लाइब्रेरी रूमस स्थापित किए जाएंगे इसके साथ ही दस हजार मेधावी छात्रों को टेबलेट्स दिए जाएंगे। उन्होंने कि वर्तमान शिक्षा में व्यापक सुधार के लिए कारगर कदम उठा रही है तथा विद्यालयों में शिक्षकों के रिक्त पदों को भरने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं।
उन्होंने कहा कि विद्यार्थी जीवन काल में ही अनुशासन और मेहनत के साथ लक्ष्य की तरफ बढ़ने के लिए बच्चों को तैयार रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी जीवन में हम जिस तरीके हम स्वयं ढालेंगे उसी तरह से हमार भविष्य निर्मित होगा। उन्होंने कहा कि विद्यालयों को पाठ्यक्रम के साथ साथ नैतिक मूल्यों की शिक्षा देना भी अत्यंत जरूरी है ताकि एक अच्छे समाज का

निर्माण सुनिश्चित किया जा सके। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने सम्पर्क साईंस टीवी प्रोग्राम के अंतर्गत डिजिटल माध्यम से शिक्षा प्रदान करने की अनूठी शुरुआत की है। इस अवसर पर स्थानीय स्कूल के मेधावी विद्यार्थियों को भी पुरस्कृत किया । उन्होंने कहा कि जीएसएसएस चड़ी के अधूरे भवन को पूरा किया जाएग तथा स्कूल की चारदीवारी भी लगाई जाएगी। इससे पहले स्कूल की प्रिंसिपल ने मुख्यातिथि का स्वागत करते हुए वाषिक गतिविधियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी।
इस मौके पर नरेंद्र थकयाल रिटायर डीएफओ, पंकज कुमार उप प्रधान, सुशील शर्मा पूर्व ब्लॉक् काँग्रेस अध्यक्ष, रविन्द्र शर्मा रिटायर पीटीआई,सुरिन्दर जम्वाल उप प्रधान,कामना देवी पूर्व जिला परिषद सदस्य, संजय ठाकुर पूर्व उप प्रधान,नरेश शर्मा ,अनिल चैधरी, जतिंदर राणा रिटायर प्रिंसीपल, नरेश राणा,लाल सिंह राणा पूर्व प्रधान,रंजना थापा, कैप्टन किशोरी लाल,भीम सिंह ठाकुर,लाल मन पूर्व प्रधान,लकी वार्ड पंच,सुरिंद ठाकुर उप प्रधान,विभिन्न स्थानीय निकायों के चुने हुए प्रतिनिधि, एसएमसी सदस्य,बच्चों के अभिवावक, स्कूल स्टाफ ,बच्चे तथा अन्य गणमान्य लोग उपस्थित रहे।